Friday , November 16 2018
Home / अभिनव शासन / ‘अभिनव बुधवारीय सन्देश’ अभिनव राजस्थान में शहरों के विकास की हमारी प्राथमिकताएं इस प्रकार से होंगी.

‘अभिनव बुधवारीय सन्देश’ अभिनव राजस्थान में शहरों के विकास की हमारी प्राथमिकताएं इस प्रकार से होंगी.

‘अभिनव बुधवारीय सन्देश’

अभिनव राजस्थान में शहरों के विकास की हमारी प्राथमिकताएं इस प्रकार से होंगी.

1. शहर में रहने वाले परिवार किसी विवाह या मृत्यु के अवसर पर सादा समारोह करें, यह हमारी पहली प्राथमिकता होगी. फिजूल खर्ची और दिखावे को रोकने के लिए हम जनवरी से मार्च 2019 तक एक बड़ा जनजागरण अभियान चलाएंगे. सभी सामाजिक संगठनों और जागरूक नागरिकों की मदद से हम यह काम आराम से कर लेंगे. चाहते सभी हैं कि यह काम हो पर हिम्मत नहीं होती है. हम माहौल बना देंगे तो मध्यम और गरीब तबके की गाढ़ी कमाई बचने लगेगी. असली विकास की जमीन यहीं से तैयार होगी.

2. शहर में स्थित छोटे और कुटीर उद्योगों को संबल देना हमारी दूसरी प्राथमिकता होगी. इनका माल बढ़ेगा और बिकेगा तो ही शहर की आमदनी बढ़ेगी. तभी शहर में सुविधाओं के लिए पैसा उपलब्ध होगा. बिना अपनी आमदनी के, केवल उधार के पैसों से विकास नहीं होता है. यह आत्मघाती कदम भारत और राजस्थान को लाखों करोड़ रूपयों के नीचे दे चुका है.

3. शहर में व्यापार सुगमता से हो इस पर ध्यान देना हमारी तीसरी प्राथमिकता होगी. हम इस बात पर जोर देंगे कि दुकानों में स्थानीय माल ज्यादा बिके. तभी पैसा राजस्थान में रुकेगा और पूँजी बढ़ेगी. तभी राजस्थान के व्यापारी, कारीगर, उद्योगपति और किसान के बीच तारतम्य बैठेगा और राजस्थान का व्यापारी राजस्थान से बाहर मजबूरी में नहीं जाएगा. हम मजबूती से इस काम को अंजाम देंगे. एक परिवार की तरह राजस्थान में काम किया जायेगा तो ही राजस्थान समृद्ध होगा.

4. शहर में स्थित सरकारी स्कूल और कॉलेज की दशा में सुधार हमारी चौथी प्राथमिकता होगी. अभी राजस्थान के सभी शहरों में इनकी दशा बहुत दयनीय हो चुकी है और इसका खामियाजा मध्यम और गरीब वर्ग के परिवार उठाते हैं. आसपास के गाँवों के बच्चों को भी नुकसान उठाना होता है. लेकिन इस पर किसी ने ध्यान नहीं दिया है. हम ध्यान देंगे क्योंकि हमें राजस्थान के धरातल का पता है और हम धरातल पर ही रहते हैं.

5. शहर में स्थित सरकारी अस्पताल को शानदार बनाना हमारी पांचवीं प्राथमिकता होगी. इनको इतना सक्षम हम बनायेंगे कि रेफ़र करने का काम कम से कम हो जायेगा.

6. शहर के जल प्रबंध को हम नए तरीके से करेंगे. शहर में स्थित तालाबों को पुनः जीवंत करेंगे. साथ ही छतों और सड़कों पर फिजूल बहने वाले पानी को एकत्रित करेंगे. इस व्यवस्था से शुद्ध जल तो मिलेगा ही, पर्यावरण को भी सुधारने में मदद होगी.

7. शहर के गंदे पानी और कचरे के निस्तारण की माकूल व्यवस्था होगी. खुली नाली किसी शहर में नहीं होगी.

8. बिजली का एक भी तार खुला नहीं दिखाई देगा. बिजली की दर अभी की कम से कम 30 प्रतिशत कम होगी. अभी तीन-चार रूपये में खरीदी हुई बिजली आठ रूपये में बेचीं जा रही है. यह लूट है. ऑडिट होते ही दरें अपने आप कम हो जाएँगी.

9. शहर में गांवों से आने वाली बसों का स्टेंड बीचों बीच होगा ताकि गाँव वाले बाजार, अस्पताल, कॉलेज या अन्य कार्यालयों तक आराम से जा सकें.

10. शहर में भारी पैमाने पर वृक्षारोपण होगा. हर गली में, हर सड़क के दोनों तरफ और शहर के चारों और वृक्षों की कतारें स्पष्ट दिखाई देंगी.

11. शहर में खेलकूद और मनोरंजन की व्यवस्थाएं दुरस्त की जायेंगी. अभिनव शहर के लोग खूब गायेंगे, नाचेंगे और जमकर खेलेंगे.

12. शहर में स्थित बाहरी कॉलोनियों की सुविधाओं पर हम विशेष ध्यान देंगे. इनकी उपेक्षा बहुत हो चुकी.

13. शहर में एक भी बैल,गाय या सूअर या कुत्ता आवारा घूमता दिखाई नहीं देगा. गायों और बैलों के लिए हमारी गोचर विकास योजना होगी. जब हरा चारा पर्याप्त उपलब्ध होगा तो प्लास्टिक खाने गायें और बैल शहर में क्यों घूमेंगे ? सूअरों और कुत्तों के लिए भी हम विशेष व्यवस्था करेंगे. आखिर यह धरती सभी जीवों के लिए बनी है.

14. शहर में सडकें कैसी होंगी ? जैसा टेंडर में लिखा होता है, वैसी ! इतना हो जायेगा तो सडकें किसी भी बारिश में दस वर्षों तक नहीं टूटेगी.

15. शहर में बेहतरीन ट्रेफिक सेन्स होगा. हमारे नागरिक अपने वाहनों को ऐसे चलाएंगे कि पुलिस की जरूरत कम से कम होगी. हर तरफ लगे केमरे भी वाहनों की गति और राहगीरों की सुरक्षा बढ़ा देंगे.

अभिनव राजस्थान पार्टी,
राजस्थान की अपनी पार्टी.
जिसके पास है, राजस्थान के असली और समग्र विकास की पुख्ता योजना.
झूठ और झांसे की राजनीति से दूर.
#AbhinavRajasthanParty

About Dr.Ashok Choudhary

नाम : डॉ. अशोक चौधरी पता : सी-14, गाँधी नगर, मेडता सिटी , जिला – नागौर (राजस्थान) फोन नम्बर : +91-94141-18995 ईमेल : ashokakeli@gmail.com

यह भी जांचें

अपनी पुलिस के काम की जाँच,

अपनी पुलिस के काम की जाँच, सूचना के अधिकार से, अधिकार भाव से । कल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *