Thursday , November 23 2017
Home / अभिनव संस्कृति

अभिनव संस्कृति

अभिनव संस्कृति

अभिनव राजस्थान में पर्यटन का अलग रंग होगा.

अभिनव राजस्थान में पर्यटन का अलग रंग होगा. राजस्थान का हर जिला भारत के एक प्रदेश से जुड़ेगा तो हर जिला दुनिया के किसी एक देश से सीधे जुड़ेगा. हर महीने जिले के सौ लोगों को देश में और पचास लोगों को विदेश में भेजा जायेगा. जालोर के हरि बाबा …

विस्तार से पढ़े»

विश्व का सबसे कठिन नृत्य – मारवाड़ की गैर. विश्व का सबसे कठिन गान- तेजा गान. विश्व का सबसे कठिन वाद्य- नड.

विश्व का सबसे कठिन नृत्य – मारवाड़ की गैर. विश्व का सबसे कठिन गान- तेजा गान. विश्व का सबसे कठिन वाद्य- नड. राजस्थान के पास अद्भुत कलाओं का खजाना है. बस हम ही विश्वास खो बैठे हैं. अभिनव राजस्थान इन विधाओं को सहेज कर रखेगा. राजस्थान की कला और संस्कृति …

विस्तार से पढ़े»

अभिनव संस्कृति ! अभिनव राजस्थान में….

अभिनव संस्कृति ! अभिनव राजस्थान में. हम संगीत और अन्य कलाओं के क्षेत्र में बहुत काम करने वाले हैं. हमारे शास्त्रीय संगीत और शास्त्रीय कलाओं को संवारने वाले हैं. इन्हें जनसामान्य के जीवन का अभिन्न अंग फिर से बनाने वाले हैं. ताकि जीवन का खोखलापन कम हो. जीवन समृद्ध हो. …

विस्तार से पढ़े»

रामदेवरा के मेले में ‘अभिनव राजस्थान’ में कैसे इंतजाम होंगे ?

लाखों लोग रामदेवरा जा रहे हैं. शासन बेखबर है, पर बाबा की मेहर है ! ‘अभिनव राजस्थान’ में हमने इस बारे में क्या सोचा है ?   राजस्थान की ‘अभिनव संस्कृति’ की कार्ययोजना में हमने देशी पर्यटन को ज्यादा महत्त्व देने पर जोर दिया है. लगभग पांच करोड़ पर्यटक राजस्थान …

विस्तार से पढ़े»

अभिनव संस्कृति

हमारे लक्ष्य 1 भारत के सांस्कृतिक मूल्यों का पुनर्स्थापन। 2 प्रदेश की संस्कृति के रंग में प्रत्येक नागरिक को रंगना। हमारे उद्देश्य  1 राजस्थान के नागरिकों के जीवन को आनंद से भरना, क्योंकि संस्कारों के अभाव से जीवन निराशा और चिंता की भेंट चढ़ गया है। 2 आर्थिक विकास को …

विस्तार से पढ़े»