Tuesday , September 18 2018

हम करेंगे किसान की फ़िक्र

अभिनव राजस्थान की अभिनव कृषि. भारत में किसान को exactly इस व्यवस्था में क्या चाहिए ? (छोड़ो यह मुआवजा, मेहरबानी. मूर्ख मत बनाओ. और आत्महत्या या गुटन या सिसकियाँ रोकना कहाँ तुम खादी वालों के बस का सौदा है. लोकनीति आने दो, हम अपने आप समाधान निकाल लेंगे. )पांच बातें, …

विस्तार से पढ़े»

राजनीति से लोकनीति की ओर- राजस्थान का अगला चुनाव

अभिनव राजस्थान में राजनीति की बजाय लोकनीति होगी. तो चुनाव का क्या होगा ? चुनाव नहीं होंगे क्या ? चुनाव होंगे पर लोकनीति पर. कैसे ? थोड़ा तसली से समझें. कई मित्रों को लगता है कि मैं जब राजनीति के खिलाफ बोलता-लिखता हूँ तो, क्या चुनाव से परहेज है या …

विस्तार से पढ़े»

अभियान अब action mode में

मित्रों, एक आवश्यक सूचना. आपमें से अधिकतर मित्र काफी लंबे समय से अभिनव राजस्थान अभियान के बारे में पढ़ रहे हैं, लिख रहे हैं. इसे जान रहे हैं और इसके कार्यक्रमों में भाग ले रहे हैं. अब यह स्पष्ट हो गया होगा कि हमें अपने सपनों का राजस्थान-अभिनव राजस्थान, अपने …

विस्तार से पढ़े»

मौसम की मार से कब टूटता है किसान

मौसम की मार से परेशान किसान इन दिनों क्या कर रहे होंगे ? क्या घर में बैठकर रो रहे होंगे ?  क्या शासन से कोई उम्मीद है उनको ? नहीं जी ! जो ऊपरवाला कष्ट देता है, वह हिम्मत भी सबसे ज्यादा किसान को देता है. और शासन से उनको …

विस्तार से पढ़े»

जोधपुर समागम 23 मार्च 2015

(पुनश्च, पुनश्च, पुनश्च ! जब तक हर मित्र न पढ़ ले ! शायद सभी का मन बन जाए ! )इस सूची में शामिल सभी मित्रों से प्रेमपूर्वक आग्रह,जोधपुर में 23 मार्च को अपने अभिनव राजस्थान अभियान के समागम में पधारें.शहीद भगत सिंह को समर्पित इस समागम से राजस्थान में जागरूकता …

विस्तार से पढ़े»

राजस्थान से बाहर जा रही है पूँजी – wealth drain

राजस्थान से बाहर जा रहे हैं, पूँजी, व्यापारी, कारीगर, खनिज, फसलें. और राजस्थान जीमने में व्यस्त है, साफे बाँधने में व्यस्त है. वोट देने में व्यस्त है. विकास किस चिड़िया का नाम है ? नहीं पता. हम अभिनव राजस्थान में बताएँगे. सुबह उठने से लेकर सोने तक हम जिन चीजों …

विस्तार से पढ़े»

धरातल पर उतारो लोकतंत्र को

अपना जिला संभालो, प्रदेश और देश अपने आप संभल जाएगा. मात्र 33 इकाईयां प्रदेश में और 640 इकाईयां हैं देश में. एक जिले में दस से पन्द्रह सजग मित्रों की जरूरत होगी. कैसे काम करेगा यह मोनिटरिंग सिस्टम ? अप्रैल 2015 से, बहुत ही सरलता से.एक आवेदन सूचना के अधिकार …

विस्तार से पढ़े»

अपना बजट यानि अपना, खुद का

अभिनव राजस्थान का बजट कैसा होगा ? बहुत छोटा, बहुत सटीक. वर्तमान सारी योजनाएं बंद ! ये useless हैं, हमारा पैसा (जी, यह बजट में पैसा हमारा ही है) और समय बर्बाद करने से ज्यादा इनमें कुछ नहीं है.सबसे पहले बताया जाएगा कि राजस्थान में खेती और छोटे उद्योग का …

विस्तार से पढ़े»

अभिनव शिक्षा में मेट्रिक छात्र को कितना ज्ञान होना चाहिए ?

अभिनव राजस्थान की अभिनव शिक्षा, अभिनव राजस्थान में एक दसवीं पास विद्यार्थी को कितना ज्ञान होगा ?1.    उसे यह पता होगा कि भारत और राजस्थान में शासन जनता का है और यह उसके जैसे परिवारों द्वारा दिए गए टेक्स से चलता है. उसे मालूम होगा कि जब वह बाजार से …

विस्तार से पढ़े»

असली लोकतंत्र के लिए महत्त्वपूर्ण मुद्दों पर सर्वे और चर्चा व्यापक स्तर पर हों.

भूमि अधिग्रहण हो, नरेगा हो या मिड डे मील, सभी मुद्दों पर व्यापक सर्वे और चर्चा होनी चाहिए, संसद के भीतर ही नहीं, संसद के बाहर भी. तभी लोकतंत्र मजबूत होगा, निर्णय जनहित में, जनसमर्थन से होंगे. एक समय तय हो जाए. दो महीने, तीन महीने. ज्यादा लंबा समय न …

विस्तार से पढ़े»