Wednesday , July 26 2017

‘अभिनव राजस्थान’ कब तक बन जाएगा ?

'अभिनव राजस्थान' क्या है ?'अभिनव राजस्थान' कब बनेगा ? या केवल कल्पना है ?क्या कोई सरकार इसके लिए मानेगी ?तीन उत्तर – एकदम सीधे. 'अभिनव राजस्थान' ऐसे विकसित और लोकतांत्रिक राजस्थान का नाम है जिसमें विकास हमें हमारे आँगन में, हमारी गली में दिखाई पड़े, महसूस हो. लेकिन यह विकास …

विस्तार से पढ़े»

अभिनव राजस्थान अभियान और राजनीति का खेल.

'अभिनव राजस्थान' कोई राजनैतिक दल बने तो ?इसकी राजस्थान में सरकार बन जाये तो ?तो क्या 'अभिनव राजस्थान' बन जायेगा ?कभी नहीं ! ( बहुत ईमानदारी से कह रहा हूँ . कारण ? नीचे पढ़ें ) कल को हम कह दें कि हम तो जनजागरण कर रहे थे, असली लोकतंत्र …

विस्तार से पढ़े»

अभिनव राजस्थान के आधार में होगा- विश्वास.

अविश्वास पर आधारित है वर्तमान राजस्थान और भारत (एक दिन मेरे अग्रज Bhupendra Singh जी ने कहा था मुझे). एकदम ठीक कहा था उन्होंने.लेकिन मैंने उन्हें कहा कि ‘अभिनव राजस्थान’ के तो आधार में ही विश्वास होगा. Recruitment, Promotion, Examination में पुनः विश्वास आधारित व्यवस्था बनायेंगे.ताकि गुणवत्ता पनपे और विकास की गति …

विस्तार से पढ़े»

‘अभिनव राजस्थान’- एकदम साफ़ साफ़

The Ultimate Post on Abhinav Rajasthan आखिर ‘अभिनव राजस्थान अभियान’ को कौन, कैसे और क्यों चलाएंगे ? ताकि कोई संदेह न हो, कोई भ्रम न हो. यह लगभग एक हजार लोकतंत्र के दीवाने मित्रों का समूह होगा जो राजस्थान को समृद्ध बनाने के प्रति समर्पित होगा. समृद्धि, प्रकृति और संस्कृति …

विस्तार से पढ़े»

सरकारी शिक्षा के साथ राजस्थान सरकार के असफल प्रयोग जारी हैं.

सरकारी शिक्षा के साथ राजस्थान सरकार के प्रयोग. एक के बाद एक असफल हो रहे हैं. फिर भी. अब यह ताजा प्रयोग. व्यापक स्तर पर सीनियर स्कूलों का खोलना. कभी गहलोत जी ने सस्ती लोकप्रियता के लिए सर्व शिक्षा अभियान को राजीव गांधी के साथ जोड़कर खेत खेत में स्कूल …

विस्तार से पढ़े»

‘अभिनव राजस्थान’ जल्दी ही बन जाएगा.

कब बन जायेगा 'अभिनव राजस्थान' ?या यह मात्र कल्पना है, हवाई किले बनाना है ?आज यह क्लीयर हो जाए.और यह भी कि क्या यह काम मैं निःस्वार्थ भाव से कर रहा हूँ ! या कोई छिपा अजेंडा है !(कई मित्र मन में यह सोचते तो होंगे, भले कहते नहीं हैं)अपने …

विस्तार से पढ़े»

अभिनव राजस्थान का जिला स्तरीय प्रशासन- बिना कलेक्टर के.

(हमारे सपनों का राजस्थान- ‘अभिनव राजस्थान’)‘अभिनव शासन’ में जिले का प्रशासन होगा कलेक्टर के बिना. क्योंकि अब बदले समय में उसकी जरूरत ही नहीं है.कलेक्टर किसी जमाने में भू राजस्व ‘कलेक्ट’ करता था. यह जमीन पर लगने वाला टेक्स ही उस समय सबसे महत्त्वपूर्ण था. इसी से सरकारें चलती थीं. जो …

विस्तार से पढ़े»

यह अभियान है, आन्दोलन नहीं (फर्क समझें)

अभिनव राजस्थान अभियान, एक 'अभियान' है. mission है.'आन्दोलन' नहीं है. बहुत फर्क है. इसे समझिए.अभियान किसी निश्चित उद्धेश्य के लिए होता है, आन्दोलन किसी के विरोध में होता है. हमारा अभियान एक वास्तविक रूप से विकसित राजस्थान के लिए है , यह किसी का विरोध करने के लिए नहीं है. …

विस्तार से पढ़े»

अभिनव राजस्थान में ग्यारह संभाग होंगे

(हमारे सपनों का राजस्थान- अभिनव राजस्थान)हमारे ‘अभिनव शासन’ में ग्यारह संभाग होने राजस्थान में.भौगोलिक-सांस्कृतिक आधार पर. इतिहास को थोड़ा दरकिनार करके.१. बीकानेर- बीकानेर, गंगानगर, हनुमानगढ़ जिले. (सरस्वती संभाग)२. जोधपुर- जोधपुर, जैसलमेर, बाड़मेर.(मरुधर)३. पाली- पाली, जालोर, सिरोही (गोडवाड)४. अजमेर – अजमेर, नागौर, भीलवाड़ा ( सपालदक्ष)५. उदयपुर- उदयपुर, राजसमन्द, चित्तौडगढ़ ( आहड)६. …

विस्तार से पढ़े»

धारणाएं बदलें ताकि समाधान निकले

२. गलत धारणा- विकास का अर्थ है-सड़कों, नालियों, भवनों का निर्माण. पानी-बिजली-स्कूल-अस्पताल की सुविधाएं. यह वही खेल है जैसे वोटतंत्र को लोकतंत्र कहकर असली बात को दबा दिया गया है. विकास का पहला और महत्त्वपूर्ण अर्थ है कि हमारे औसत परिवार की, गाँव की, शहर की, प्रदेश की और देश …

विस्तार से पढ़े»