Monday , November 11 2019

शराब का जहर नहीं होगा – ‘अभिनव राजस्थान’ में

शराब की उपयोगिता(?)   शराब की हमारे समाज में क्या उपयोगिता है, इस विषय पर स्पष्ट धारणा अभी तक विकसित नहीं हो पायी है. अभी तक हम यह तय नहीं कर पाए हैं कि शराब जैसे मादक पेय का उत्पादन कर इसे बेचने से समाज को क्या फायदा है. शायद …

विस्तार से पढ़े»

डॉक्टर बन जायेंगे फिर भगवान – ‘अभिनव राजस्थान’ में

एक अधूरा सपना एक कस्बे के सरकारी अस्पताल में सभी डॉक्टर अत्यंत सेवा भाव से जुटे हैं. जैसे वे किसी मिशन में काम करते हैं. वे समर्पित होकर अपने मरीजों को सँभालते हैं. किसी भी मरीज से कोई फीस नहीं लेते हैं. वे अपने वेतन में खुश हैं. कस्बे के …

विस्तार से पढ़े»

यह पुलिस कैसे सुधरेगी – ‘अभिनव राजस्थान’ में

जरा गंभीरता से सोचिये. कोई भी पुलिस का अधिकारी या सिपाही अगर रिश्वत लेकर अपने कर्तव्य से विमुख होता है, तो क्यों होता है ? क्यों वह उस महान ‘वर्दी’ का महत्त्व नहीं समझता है, जो समाज ने उसे पहनाई है? क्यों वह भूल जाता है कि उसका वेतन समाज …

विस्तार से पढ़े»

शिक्षा के मंदिर बन गए शमशान घाट

प्रदेश के सरकारी स्कूलों व कॉलेजों का हाल बेहाल यह शीर्षक जितना पीड़ादायक लगता है, वस्तुस्थिति उससे भी अधिक खराब है. आप यहाँ तक कह सकते हैं कि राजस्थान और भारत के कर्णधारों ने शिक्षा की अंत्येष्टि ही नहीं कर दी है बल्कि उसे जिन्दा जला दिया है. सरकारी शिक्षण …

विस्तार से पढ़े»

लोकपाल पर इतना हल्ला क्यों है भाई ?

‘थें थोडा सा गहराई में झांको, भेद खुल जासी’ पूरे देश में हल्ला मच रखा है. लोकपाल, लोकपाल. कहा जा रहा है कि लोकपाल आने पर देश में साठ प्रतिशत भ्रष्टाचार खत्म हो जाएगा. यह ताज़ा फोर्मूला लाया गया है. पुराने फोर्मूलों पर पुरस्कार मिल गए हैं, कई सेवानिवृत अधिकारियों …

विस्तार से पढ़े»

कस्बों की क्रांति

आने वाले दिनों में हम राजस्थान के प्रत्येक जिले में एक कस्बे में अभियान को औपचारिक रूप से शुरू करेंगे. कस्बे का चयन करने के हमारे अपने विशेष कारण रहेंगे. फिर आगे अन्य कस्बों को भी अभियान से जोड़ देंगे. अभी बड़े शहरों या जिला मुख्यालयों को अभियान में शामिल …

विस्तार से पढ़े»

‘अभिनव राजस्थान’ का संगठन कैसा होगा

हमारा संगठन कैसा होगा ?           हमारा संगठन भी वर्तमान संगठनों से थोड़ा अलग होगा.  यह एक खुला खुला सा संगठन होगा, जिसकी हर गतिविधि खुली किताब जैसी होगी. पारदर्शी होगी. इस संगठन में पदों का झंझट भी नहीं होगा, बस कुछ लोग समन्वय का काम करेंगे. प्रत्येक कार्यकर्ता को …

विस्तार से पढ़े»

‘अभिनव राजस्थान अभियान’ से जुड़ें

‘चेत सखे तो चेत मानखा, जमानो चेतण रो आयो’ डॉ. अशोक चौधरी                                                           94141-18995(ashokakeli@gmail.com)   मित्रों, अब वह समय आ गया है, जब आपसे स्पष्ट बात कर ली जाए. अभियान के इरादे बता दिते जाएँ. अभियान की मंजिल का पता बता दिया जाए. दो-तीन वर्षों से जिस ‘अभिनव राजस्थान’ की …

विस्तार से पढ़े»

‘अभिनव राजस्थान अभियान’ में

जनजागरण का एक सफल प्रयोग ‘अभिनव राजस्थान अभियान’ में हमारा मुख्य नारा है- आपां नहीं तो कुण?आज नहीं तो कद ? इस बात को कई मंचों से दूसरे रूप में भी कहा- सुना जाता रहा है. कागजों पर लिखा-पढ़ा भी जाता है. वक्ता कहते हैं, लेखक लिखते हैं, कि जब …

विस्तार से पढ़े»

‘अभिनव राजस्थान अभियान’ के तहत गांवों में होंगे सर्वे

 राजस्थान के वास्तविक विकास को समर्पित ‘अभिनव राजस्थान अभियान’ 30 अक्टूबर को मेड़ता शहर में सैकड़ों प्रबुद्ध नागरिकों की उपस्थिति में प्रारंभ हुआ है. प्रदेश के उत्पादन को बढ़ाने के लिए आवश्यक जनहितेषी नीतियों एवं योजनाओं के निर्माण के लिए यह अभियान प्रदेश के सभी अंचलों में चलेगा. लेकिन किसी …

विस्तार से पढ़े»