Wednesday , July 26 2017

अभिनव राजस्थान की कार्ययोजना

अभिनव राजस्थान की कार्ययोजना पिछले पृष्ठ पर आपने अभिनव राजस्थान की अवधारणा के बारे में पढ़ा है। आदर्शवादी जैसी लगती इस अवधारणा को प्रत्येक पाठक चाहेगा कि अमल होते देखा जाये। लेकिन सदियों से अविश्वास और निराशा से भरे मन को यह सहज नहीं लगता है। हमें तो यह भी …

विस्तार से पढ़े»

अभिनव राजस्थान कैसा होगा?

अभिनव राजस्थान पर हमारे पाठकों ने कई बार पढ़ा है। अवधारणा को हमने पुस्तक के माध्यम से भी राजस्थान के बुद्धिजीवियों के सामने रखा है। विद्वान मित्रों ने अपनी प्रतिक्रिया से हमारा उत्साह भी बढ़ाया है। एक बार पुन: उसी अवधारणा पर नये सिरे से लिखना आवश्यक लग रहा है, …

विस्तार से पढ़े»

उफ! ये गुलामी

जिस प्रकार आलस्य शरीर में कई प्रकार की बीमारियों का जनक है, गुलामी भी समाज में कई समस्याओं के मूल में है। और भारत में तो एक हजार वर्षों की लम्बी गुलामी रही है। हमारे राजस्थान में गुलामी के तीन स्तर रहे हैं। यहाँ के राजा भी गुलाम रह चुके। …

विस्तार से पढ़े»

अभिनव राजस्थान सार संक्षेप

अभिनव राजस्थान अवतारवाद से जनजागरण की ओर,                                    जनजागरण से स्वशासन की ओर,                                                                     स्वशासन से वास्तविक विकास की ओर हमारा लक्ष्य       –      अभिनव राजस्थान हमारा उद्देश्य     –       समृद्धि , प्रकृति और संस्कृति का संगम हमारी रणनीति   –      जनजागरण से माहौल बनाना हमारी ताकत      –      बुद्धिजीवी …

विस्तार से पढ़े»