Monday , April 22 2019
Home / बढ़ते कदम (page 4)

बढ़ते कदम

बढ़ते कदम

दक्षिणी राजस्थान की उपेक्षा

उपेक्षित बेणेश्वर धाम माही और सोम-जाखम के संगम पर यह पवित्र स्थान एक मछलीनुमा टापू पर बना है. डूंगरपुर जिले की  आसपुर तहसील के सबला गाँव के पास. वही सबला जहाँ मावजी नमक संत हुए, जिन्हें कलियुग के विष्णु कल्कि का अवतार माना गया. सोम नदी यहाँ पर एक डेल्टा …

विस्तार से पढ़े»

कस्बों की क्रांति

आने वाले दिनों में हम राजस्थान के प्रत्येक जिले में एक कस्बे में अभियान को औपचारिक रूप से शुरू करेंगे. कस्बे का चयन करने के हमारे अपने विशेष कारण रहेंगे. फिर आगे अन्य कस्बों को भी अभियान से जोड़ देंगे. अभी बड़े शहरों या जिला मुख्यालयों को अभियान में शामिल …

विस्तार से पढ़े»

‘अभिनव राजस्थान अभियान’ में

जनजागरण का एक सफल प्रयोग ‘अभिनव राजस्थान अभियान’ में हमारा मुख्य नारा है- आपां नहीं तो कुण?आज नहीं तो कद ? इस बात को कई मंचों से दूसरे रूप में भी कहा- सुना जाता रहा है. कागजों पर लिखा-पढ़ा भी जाता है. वक्ता कहते हैं, लेखक लिखते हैं, कि जब …

विस्तार से पढ़े»

‘अभिनव राजस्थान अभियान’ के तहत गांवों में होंगे सर्वे

 राजस्थान के वास्तविक विकास को समर्पित ‘अभिनव राजस्थान अभियान’ 30 अक्टूबर को मेड़ता शहर में सैकड़ों प्रबुद्ध नागरिकों की उपस्थिति में प्रारंभ हुआ है. प्रदेश के उत्पादन को बढ़ाने के लिए आवश्यक जनहितेषी नीतियों एवं योजनाओं के निर्माण के लिए यह अभियान प्रदेश के सभी अंचलों में चलेगा. लेकिन किसी …

विस्तार से पढ़े»

‘अभिनव राजस्थान अभियान’ का शुभारंभ

30 अक्तूबर 2011 (रविवार) की सुबह हमारे क़स्बे मेड़ता सिटी के लिए एक सुनहरा संकेत दे रही थी. जगह जगह ‘अभिनव राजस्थान’ के प्रतीक चिन्ह के बैनर लगे थे. इन्द्रधनुषी विकास के सात रंगों को दर्शाते बैनर को नागरिक बड़ी उत्सुकता और अचम्भे से देख रहे थे. पहले कभी इसके …

विस्तार से पढ़े»

30.10.11 को अभिनव आरंभ

कार्यक्रम संयोजक डॉ. अशोक चौधरी तथा  मुख्य वक्ता श्री गजादान चारण  अध्यक्ष मंडल व अतिथिगण  सहभागी मेड़ता क्षेत्र के  चित्र पर क्लिक करने से पूरे आकार के चित्र देख सकते हैं।

विस्तार से पढ़े»

25 दिसम्बर को शंखनाद से पहले 30 अक्टूबर का महत्त्वपूर्ण पड़ाव

शंकाओं का समाधान रणनीति पर चर्चा पाठक मित्रों, इस बार के अंक में अभिनव राजस्थान की सम्पूर्ण योजना आपके समक्ष प्रस्तुत है। हमारे 10 हजार पाठकों को अपने सपने के राजस्थान की समग्र जानकारी देने का प्रयास है। कई पाठक नये जुड़े हैं, उनको भी नये राजस्थान के बारे में …

विस्तार से पढ़े»

अभिनव राजस्थान के बढ़ते कदम 5

मेड़ता में अच्छाई की मार्केटिंग (19 जून 2011) हमारा यह स्पष्ट मानना है कि अच्छाई भी फैलायी जानी चाहिये। केवल बुराई को कोसना काफी नहीं है। अंधेरे को कोसने की बजाय दिया जलाना अधिक सार्थक होता है। अंधेरा तभी खत्म होगा। 25 दिसम्बर 2011 को मेड़ता शहर में, मीरां की …

विस्तार से पढ़े»

‘अभिनव राजस्थान’ अभियान पर शिक्षक, कवि एवं चिंतक कुमार वर्मा की टिप्पणी

राजस्थान प्रदेश का जागरूक नागरिक होने के नाते मेरी ‘अभिनव राजस्थान’ के विचार से कमोवेश परिचितता बनी रही है। मैं आंदोलन शब्द से बचना चाह रहा हूं। विचाररहित एवं स्तरहीन नेतृत्व ने आंदोलन शब्द की महिमा, उसके गौरव और उसकी गंध को तकरीबन नष्ट कर डाला है।           “अभिनव राजस्थान” …

विस्तार से पढ़े»

अभिनव राजस्थान के बढ़ते कदम 4

जैसे-जैसे 25 दिसम्बर की तारीख नजदीक आ रही है, तैयारियों को गति देने के प्रयास हो गये हैं। समाचार पत्र नियमित हो गया है। जून 2011 से दिसम्बर 2011 तक सात अंकों में सात विषयों पर हमारी रणनीति स्पष्ट होती जायेगी। पहली बार एक सकारात्मक कार्यक्रम को इतने बड़े स्तर …

विस्तार से पढ़े»